Love Shayari, Jahan par ishq hota hai wahan soncha nhi jaata

Love Shayari, Jahan par ishq hota hai wahan soncha nhi jaata

❤🌷🌹
Tareeqe aur bhi hain is tarah parkha nhi jaata.
Charagon ko hawa ke saamne rakha nhi jaata.
Mohabbat faisla karti hai pahle chand lamhon me.
Jahan par ishq hota hai wahan soncha nhi jaata.
❤🌷🌹

“” तरीके और भी हैं इस तरह परखा नहीं जाता
चिरागों को हवा के सामने रखा नहीं जाता
मोहब्बत फेसला करती हे पहले चन्द लम्हों में
जहाँ पर इश्क होता हे वहां सोंचा नहीं जाता “”

Love Shayari, Tum ne mohabbat, mohabbat se zyaada ki he

Tum ne mohabbat mohabbat se zyaada ki he

Tum ne mohabbat mohabbat se zyaada ki he,
Hum ne mohabbat tum se bhi zyaada ki hei
tum Kia kroge Mohabbat ki inteha
Hum ne inteha se to ibtida ki he…..

तुम ने मोहब्बत , मोहब्बत से ज्यादा की हे
हम ने मोहब्बत तुम से भी ज्यादा ही हे
तुम किया करोगे मोहब्बत की इन्तेहा
हम ने इन्तहा से इब्तेदा की हे…

wo silsile, wo shoq, woh qurbat nahi rahi
phir yun huwa ke dard me shiddat nahi rahi
apni zindagi me ho gaye wo masroof bahut
aur hum se baat karne ki fursat nehi rahi

वो सिलसिले, वह शोक, वह कुर्बत नही रही
फिर यूँ हुवा के दर्द में शिद्दत नही रही
अपने ज़िन्दगी में हो गये वह मसरूफ बहुत
और हम से बात करने की फुर्सत नही रही…..

Love shayari, Mohabbat ki fees ada nahi hoti

Love shayari, Mohabbat ki fees ada nahi hoti

Ab chhod diya ishq ka “SCHOOL” meine aye Dost
Mujh se ab Mohabbat ki fees ada nahi hoti

अब छोड़ दिया मोहब्बत का स्कूल ए दोस्त
मुझ से अब मोहब्बत की फीस ऐडा नही होती

mujhe to is pure jahan mein sirf tum se pyar he
ya mera imtehaan le lo —– ya phir mera etabaar kar lo

मुझे तो इस पुरे जहान में सिर्फ तुम से प्यार हे
या मेरा इम्तेहान ले लो– या फिर मेरा ऐतबार कर लो

Rishta jitna mazboot hota he
ranjish bhi utni zyada hoti he
lekin
jo log faslon ko sametne ka hunar jante hein
un ke liye mohabbat hamesha meharbaan rahti he

रिश्ता जितना मजबूत होता हे
रंजिश भी उतनी ज्यादा होती हे
लेकिन
जो लोगे फ़ासलों को समेटने का हुनर जानते हैं
उनके लिए मोहब्बत मेहरबान रहती हे

Love shayari, Mujhe tum se Mohabbat he

Wo kagaz aaj bhi phool ki tarah mahakta he
Jis par tune mazaq se likha tha k mujhe tum se Mohabbat he.

वो कागज़ आज भी फूल की तरह महकता है
जिस पर तूने लिखा था कि मुझे तुम से मोहब्बत है।

Love shayari,

Love shayari, Mohabbat Chhod di Usne

Kon Kharide ga tere Rukhsaar teri aankh ka Pani
Wo  jo Dard  kar tajir Tha Mohabbat Chhod di Usne

“कोन ख़रीदेगा तेरे रुखसार तेरे आँख का पानी
वो जो दर्द का ताजिर था मोहब्बत छोड़ दी उसने,,

Love shayari, Mohabbat Chhod di Usne

Love shayari, Mohabbat aise Likhte hein

”Suna he aaj Uski aankhon mein aansu aa gaye
Jab wo Baccho ko sikha rahi thi mohabbat aise Likhte hein,,

“सुना हे आज उसकी आँखों में आंसू आ गये
जब वो बच्चो को सिखा रही थी मोहब्बत ऐसे लिखते हें”

Love shayari, Mohabbat aise Likhte hein

Love Shayari, Kisi ke liye mohabbat

Har shkhas ka alag andaz he
Kisi ke liye mohabbat kisi ke liye pap he
Aur Jab hum se puchha mohabbat kia he tumhare liye….
Hum ne kaha mohabbta ka matlab to Aap he.

हर शख्स का अलग अंदाज है
किसी के लिये मोहब्बत तो किसी के लिये पाप है
और जब हमसे पूछा मोहब्बत किया है तुम्हारे लिये….
हम ने कहा मोहब्बत का मतलब तो आप है.

Love Shayari, Kisi ke liye mohabbat